Uncategorized

कुछ ना कुछ होना तो तय है

दुसरो का हक ना तो ले ना ही दे..
क्यों कि…
हक लिया तो महाभारत होगी..
दिलाया तो रामायण होगी..
कुछ ना कुछ होना तो तय है…

Message Written by Yogesh PhulwariyA
Copyright© Powered By
www.mhfilaeshayri.com

Show More

Related Articles

Close
Close