Dard Shayri

कौन चाहता है अपनों से दूर

[wp_ad_camp_1]वक़्त नूर को बेनूर बना देता है!
छोटे से जख्म को नासूर बना देता है!
कौन चाहता है अपनों से दूर रहना पर
वक़्त सबको मजबूर बना देता है!

vaqt noor ko benoor bana deta hai!
chhote se jakhm ko naasoor bana deta hai!
kaun chaahata hai apanon se door rahana par
vaqt sabako majaboor bana deta hai!

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close