Dard ShayriSad

मैं रोता हूँ तो रोने लगती

[wp_ad_camp_1]कांटो सी चुभती है तन्हाई!
अंगारों सी सुलगती है तन्हाई!
कोई आ कर हम दोनों को ज़रा हँसा दे!
मैं रोता हूँ तो रोने लगती है तन्हाई!

kaanto see chubhatee hai tanhaee!
angaaron see sulagatee hai tanhaee!
koee aa kar ham donon ko zara hansa de!
main rota hoon to rone lagatee hai tanhaee!

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close